23.2 C
Dehradun
Thursday, July 18, 2024

टीएचडीसी इंडिया ने सभी परियोजनाओं और कार्यालयों में उत्साहपूर्वक मनाया 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस

ऋषिकेश। टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड, विद्युत् क्षेत्र के अग्रणी और लाभ अर्जित करने वाले मिनी रत्न पीएसयू ने अपने कॉर्पोरेट कार्यालय, के साथ साथ सभी परियोजना और यूनिट कार्यालयों में 10वां अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया। इस वर्ष के लिए योग दिवस की थीम स्वयं और समाज के लिए योग रखी गई है। इस कार्यक्रम में सभी परियोजनाओं और कार्यालयों में कार्यरत कर्मचारियों ने एकजुट होकर स्वास्थ्य और कल्याण को बढ़ावा देने के लिए उत्साह और जोश की भावना के साथ इस योग कार्यक्रम में भाग लिया। अध्यक्ष एवं प्रबंध निदेशक, आर. के. विश्नोई ने सामुदायिक केंद्र, कॉर्पोरेट कार्यालय, ऋषिकेश में 10वें अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अपनी हार्दिक शुभकामनाएं दीं। श्री विश्नोई ने अपने संबोधन में समकालीन समय में शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने में योग के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने योग की परिवर्तनकारी शक्ति पर भी प्रकाश डाला। साथ ही व्यक्तिगत कल्याण के साथ दृसाथ वैश्विक सद्भाव को बढ़ावा देने की इसकी क्षमता पर भी जोर दिया।
श्री विश्नोई ने वर्ष 2014 में संयुक्त राष्ट्र महासभा में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस अभियान शुरू करने में प्रधानमंत्री की दूरदर्शी पहल पर प्रकाश डाला, जिसके कारण 21 जून 2015 को दुनिया भर में इसे मनाया गया। श्री विश्नोई ने योग के बारे में अपना दृष्‍टिकोण साझा किया कि कैसे योग व्यक्तिगत स्वास्थ्य के साथ साथ समुदायों के भीतर एकता की भावना को बढ़ावा देता है। इस वर्ष की थीम, स्वयं और समाज के लिए योगष् पर विचार करते हुए, उन्होंने सभी कर्मचारियों को योग अपनाने के लिए प्रोत्साहित किया। साथ ही व्यक्तिगत कल्याण के साथ सामाजिक एकजुटता को बढ़ावा देने में इसकी दोहरी भूमिका को भी रेखांकित किया। उन्होंने टीएचडीसीआईएल के सभी कार्यालयों एवं परियोजनाओं में अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस को बड़े हर्षोल्लास के साथ मनाये जाने पर प्रसन्नता व्यक्त की। शैलेन्द्र सिंह, निदेशक (कार्मिक) ने टीएचडीसीआईएल के कौशांबी कार्यालय, नई दिल्ली में योग दिवस कार्यक्रम का नेतृत्व किया। श्री सिंह ने इस महत्वपूर्ण अवसर का हिस्सा बनने पर प्रसन्नता व्यक्त की और स्वयं और समाज के लिए योगष् विषय के महत्व पर जोर दिया। उन्होंने सामंजस्यपूर्ण दुनिया बनाने में एकता और वैश्विक सहयोग की आवश्यकता पर जोर दिया एवं नियमित आधार पर आयोजित योग कार्यक्रमों और शिविरों के माध्यम से ऐसे मूल्यों को बढ़ावा देने के लिए टीएचडीसी इंडिया लिमिटेड की सराहना की। उन्होंने प्रत्येक कर्मचारी से समग्र कल्याण और संगठनात्मक दक्षता बढ़ाने के लिए योग को अपने दैनिक जीवन में शामिल करने का भी आग्रह किया।
इस अवसर पर भूपेन्द्र गुप्ता, निदेशक(तकनीकी) ने आज के व्यस्त और तनावपूर्ण कार्य वातावरण में योग के महत्व पर प्रकाश डाला और इस वर्ष की थीम के अनुरूप शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों को बढ़ाने के लिए दैनिक दिनचर्या में योग को अपनाने के महत्व पर जोर दिया।
टीएचडीसीआईएल 1587 मेगावाट की संस्थापित क्षमता के साथ देश में प्रमुख विद्युत उत्पादक कंपनी है। जिसमें उत्तराखंड में टिहरी बांध और एचपीपी (1000 मेगावाट), कोटेश्वर एचईपी (400 मेगावाट), गुजरात के पाटन में 50 मेगावाट तथा द्वारका में 63 मेगावाट की पवन ऊर्जा परियोजनाएं, उत्तर प्रदेश के झाँसी में 24 मेगावाट की ढुकवां लघु जल विद्युत परियोजना तथा केरल के कासरगोड में 50 मेगावाट की सौर ऊर्जा परियोजना की सफलतापूर्वक कमीशनिंग को इसका श्रेय जाता है। यह भी उल्लेख करना आवश्यक है कि टीएचडीसीआईएल के पास मध्य प्रदेश के अमेलिया में परिचालन कोयला खदानें हैं, जिनका वाणिज्यिक परिचालन अपने निर्धारित समय से छह महीने पूर्व शुरू हो गया है, जो एक विशेष उपलब्धि भी है।

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img
spot_img

Latest Articles

error: Content is protected !!